अन्तरजाल पर साहित्य प्रेमियों की विश्राम स्थली
ISSN 2292-9754

मुख पृष्ठ
09.13.2014


प्रख्यात लेखक तेजेन्द्र शर्मा पद्मभूषण डॉ. सत्यनारायण मोटुरि हिन्दी सम्मान से सम्मानित
सुमन कुमार घई

27 अगस्त, 2014 को राष्ट्रपति भवन में प्रसिद्ध कहानीकार तेजेन्द्र शर्मा को इस वर्ष "पद्मभूषण डॉ. सत्यनारायण मोटुरि हिन्दी सम्मान" से सम्मानित किया गया। यह सम्मान पद्मभूषण डॉ॰ मोटूरि सत्यानारायण पुरस्कार एक साहित्यिक पुरस्कार है जो भारत के मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अंतर्गत केन्द्रीय हिन्दी संस्थान द्वारा किसी ऐसे भारतीय मूल के विद्वान को दिया जाता है जिसने विदेश में हिन्दी भाषा या साहित्य के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य किया हो। इस पुरस्कार का प्रारंभ तमिलनाडु के हिंदी सेवी एवं विद्वान मोटूरि सत्यनारायण के नाम पर १९८९ में हुआ था। पहला पद्मभूषण डॉ. मोटूरि सत्यनारायण पुरस्कार वर्ष २००२ में कनाडा के हरिशंकर आदेश को दिया गया था। इस पुरस्कार में एक लाख रुपये नकद, एक स्मृतिचिह्न, प्रशस्ति पत्र और शाल शामिल हैं। यह पुरस्कार भारत के राष्ट्रपति द्वारा स्वयं प्रदान किया जाता है।

प्रशंसात्मक उल्लेख :

27 अगस्त 2014 को दोपहर 12.00 बजे केन्द्रीय हिन्दी संस्थान द्वारा राष्ट्रपति भवन में आयोजित कार्यक्रम में पद्मभूषण डॉ. मोटुरी सत्यनारायण पुरस्कार-2011 के साथ पढ़ा गया प्रशंसात्मक उल्लेखः

श्री तेजेन्द्र शर्मा समकालीन हिंदी कथा-साहित्य के अग्रणी लेखकों में सम्मिलित हैं। मूलतः पंजाबी भाषी श्री शर्मा के लेखन की माध्यम भाषा हिंदी रही है। इनकी कथात्मक कृतियों में ‘काला सागर’, ‘ढिबरी टाइट’, ‘बेघर आँखें’, ‘दीवार में रास्ता’ और ‘क़ब्र का मुनाफ़ा’ आदि प्रमुख हैं। कथा साहित्य के अलावा आप कविता और ग़ज़ल भी लिखते रहे हैं।

तेजेन्द्र शर्मा की कुछ कहानियाँ प्रमुख भारतीय विश्वविद्यालयों के पाठ्यक्रम में भी सम्मिलित हैं। उनके लेखन पर अनेक शोध-कार्य और पत्र-पत्रिकाओं के विशेषांक प्रकाशित हो चुके हैं। दूरदर्शन और कुछ फ़िल्मों से ये लेखक और बतौर अभिनेता जुड़े रहे हैं। बी.बी.सी. लन्दन और ऑल इण्डिया रेडियो से भी इन्होंने कार्यक्रमों की प्रस्तुतियाँ की हैं।

तेजेन्द्र जी को उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान का “प्रवासी भारतीय साहित्य भूषण सम्मान”, हरियाणा और महाराष्ट्र राज्य साहित्य अकादमी के पुरस्कार और भारतीय उच्चायोग, लंदन द्वारा “डॉ. हरिवंश राय बच्चन सम्मान” से विभूषित किया जा चुका है।

वरिष्ठ कहानीकार श्री तेजेन्द्र शर्मा को पद्मभूषण डॉ. मोटुरी सत्यनारायण पुरस्कार से सम्मानित करते हुए केन्द्रीय हिंदी संस्थान हर्ष का अनुभव करता है।


अपनी प्रतिक्रिया लेखक को भेजें