अन्तरजाल पर साहित्य प्रेमियों की विश्राम स्थली
ISSN 2292-9754

मुख पृष्ठ
03.02.2017


डॉ. अमरजीत कौंके को साहित्य अकादमी का अनुवाद पुरस्कार
विशेष संवाददाता द्वारा

साहित्य अकादमी की दिल्ली ओर से पंजाबी के कवि, संपादक और अनुवादक डॉ. अमरजीत कौंके सहित 23 भाषाओँ के लेखकों को वर्ष 2016 के लिए अनुवाद पुरस्कार देने की घोषणा की गई है। अमरजीत कौंके को यह पुरस्कार पवन करन की पुस्तक "स्त्री मेरे भीतर" के पंजाबी अनुवाद "औरत मेरे अंदर" के लिए प्रदान किया जाएगा। अमरजीत कौंके पंजाबी और हिन्दी साहित्य में जाने-पहचाने कवि हैं। उनके 7 काव्य संग्रह पंजाबी में और 4 काव्य संग्रह हिंदी में प्रकाशित हो चुके हैं। अनुवाद के क्षेत्र में अमरजीत कौंके ने डॉ.. केदारनाथ सिंह, नरेश मेहता, अरुण कमल, कुंवर नारायण, हिमांशु जोशी, मिथिलेश्वर, बिपन चंद्रा सहित 14 पुस्तकों का हिंदी से पंजाबी तथा वंजारा बेदी, रविंदर रवि, डॉ. रविंदर, सुखविंदर कम्बोज, बीबा बलवंत, दर्शन बुलंदवी, सुरिंदर सोहल सहित 9 पुस्तकों का पंजाबी से हिंदी में अनुवाद किया है। बच्चों के लिए भी उनकी 5 पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं। अमरजीत कौंके एक साहित्यक पत्रिका "प्रतिमान" के संपादक भी हैं जिसे वह 13 साल से लगातार निकल रहे हैं। अमरजीत ने पंजाबी और दूसरी भाषाओँ के अनुवाद से साहित्य के आदान-प्रदान में एक पुल का काम किया है। साहित्य अकादमी के इस पुरस्कार के चयन के लिए गठित कमेटी में डॉ.. जसविंदर सिंह, डॉ. जोध सिंह तथा डॉ.गुरपाल सिंह संधू शामिल थे। यह पुरस्कार साहित्य अकादमी द्वारा आयोजित एक समागम में प्रदान किया जाएगा। इस सम्मान में 50,000 रुपए की राशि और सम्मान पत्र और चिन्ह शामिल हैं।


अपनी प्रतिक्रिया लेखक को भेजें