अन्तरजाल पर साहित्य
प्रेमियों की विश्राम स्थली
मुख्य पृष्ठ
06.28.2008

जीने के लिए
रचनाकार
: डा. महेंद्र भटनागर

सन् 1986 ई. में
डॉ. महेंद्र भटनागर

इसने
उसको
भून दिया
गोली से;

क्योंकि
भिन्न था
                  वह
बोली से !


अपनी प्रतिक्रिया लेखक को भेजें