अन्तरजाल पर साहित्य प्रेमियों की विश्राम स्थली मुख्य पृष्ठ
05.03.2012
अन्तर्यात्रा
रचनाकार : डॉ. दीप्ति गुप्ता
रिचय
डॉ. दीप्ति गुप्ता

साथियो ! मेरे इस काव्य संग्रह मे संकलित मेरी रजनाएँ ही मेरा सबसे अच्छा और सच्चा परिचय है । किन्तु पाठकों को पुस्तक के रचयिता विषय में जानने की एक स्वाभाविक जिज्ञासा होती है, अतएव, उस जिज्ञासा को ध्यान मे रखते हुए, बताना चाहूँगी कि मै तीन विश्वविद्यालयों में अध्यापनरत रही। अध्यापन क्षेत्र में ‘रिदर पर’ व प्रशासनिक क्षेत्र में, मानव संसाधन विकास मंत्रालय, शास्त्री भवन, नई दिल्ली के शिक्षा विभाग में ‘शिक्षा सलाहकार’ पद का कार्यभार सम्हाला । सन 1985 से लेखन रत हूँ। कविता के अतिरिक्त कहानी, समिक्षा अनुवाद व ज्वलन्त विषयों पर लेख आदि के क्षेत्र में लेखनी मुखर है। सम्प्रति पूर्णतया स्वतन्त्र लेखन को समर्पित हूँ।


अपनी प्रतिक्रिया लेखक को भेजें