अन्तरजाल पर साहित्य प्रेमियों की विश्राम स्थली
ISSN 2292-9754

मुख पृष्ठ
01.22.2016


तवायफ़

वक़्त ग्राहक था
हालात कोठा
और वो
भागने की चाह में,
बंद कोठे में क़ैद
कोई तवायफ़


अपनी प्रतिक्रिया लेखक को भेजें