अन्तरजाल पर साहित्य प्रेमियों की विश्राम स्थली मुख्य पृष्ठ
05.03.2012
 

Laxmi Ka Aawas aur Prawas
विजय विक्रान्त
Vijay Vikrant
(Edited by Dr. Shailja Saksena)


            सेठ करोड़ी मल का जैसा नाम था वैसे ही उसकी किस्मत थी।
          SeTh karodeemal ka jaisa naam tha vaisi hee usaki kismat thee.
लक्ष्मी की कृपा से धन दौलत की कोई कमी नहीं थी। व्यापार में
Luxmi ki kripa se dhan daulat ki koi kami naheen thee. Vyaapaar mein
खूब कमाई हो रही थी और जीवन बहुत सुखी था। करोड़ी सेठ को पैसे से
khoob kamaai ho rahee thee aur jeevan bahut sukhee tha. Karorhee seth ko paise se
बहुत ही अधिक प्यार था और वो इस की पूरी देख भाल करता था। एक
bahut hee adhik pyaar thaa aur vo is kee puuree dekh bhaal karata tha. Ek
रात सपने में सेठ को लक्ष्मी ने दर्शन दिए और कहने लगी कि अब मेरा
raat sapane mein seTh ko luxmi ne darshan diye aur kah ne lagee ki ab mera
तुम से रिश्ता नाता समाप्त हो गया है और मैं तुम्हें छोड़ कर गंगा पार
tum se rishta naata samaapt ho gaya hai aur main tumhen chhorh kar ganga paar
फ़कीरा हलवाई के यहाँ जा रही हूँ।
Fakeera halwaaee ke yahaan ja rahee hoon.
इस डर से कि कहीं सपना सच्चा न हो, करोड़ी मल ने अपनी सारी
Is Dar se ki kaheen sapana sachcha na ho, karorhee mal ne apanee saaree
दौलत अपने महल की छत की कड़ीयों में छुपा दी। " देखता हूँ कि
daulat apane mahal kee chhat kee kadiyon mein chhupa dee. "dekhata hoon ki
अब तू मुझे छोड़ कर कहाँ जाती है" , ऐसा वो सोचने लगा। कुछ ऐसा
ab too mujhe chhorh kar kahaan jaatee hai". aisaa vo soch ne laga.Kuchh aisa
हुआ कि अगले ही दिन बादल घिर आए और बहुत ज़ोर की वर्षा होने
hua ki ale hee din baadal ghir aae aur bahut zor kee varsha hone lagee लगी। इतना पानी बरसा कि सेठ का महल गिर गया और छत की कड़ियाँ Itanaa paanee barsa ki seTh kaa mahal gir gaya aur ChHat ki kadhiyaan
गंगा के पानी में बह गयीं और दूसरे किनारे जा कर लगीं। वहाँ
ganga ke paanee mein bah gayeen aur doosre kinaare ja kar lagaeen. Vahaan
बुलाकी मल्लाह ने जब ये सब देखा तो सा कि क्यों न इन्हें इकट्ठी
Bulaakee mallaah ne jab ye sab dekha to socha ki kyon na inhen ikaTThee
कर के बेच कर आज की दिहाड़ी बना लूँ। बाढ़ के कारण आज कोई भी
kar ke bech kar aaj ki dihaarhee bana loon. B aRh ke kaaraN aaj koee bhee
उस पार जाने वाला यात्री नहीं मिला है। मल्लाह ने सारी कड़ियाँ एक
us paar jaane vaala yaatree naheen mila hai. Mallaah ne saaree karhiyaan ek
रस्सी में बान्धी
और जा कर फ़कीरा हलवाई को एक रुपये में बेच दी।
rassi mein baandhee aur jaa kar Fakeeraa halawaaee ko ek rupaye mein bech diya.
लकड़ीयों को चीरने की ख़ातिर जब फ़कीरा ने कुल्हाड़ी चलाई तो छन्न
Lakadiyon ko cheerane kee khaatir jab Fakeeraa ne kulhaaree calaaee to chhann
छन्न करती अशर्फ़ीयों से सारी दुकान गूँज गई।

chhann karatee aSarfiyon se saaree dukaan goonj gaee.

उधर सेठ का बुरा हाल था। घर में खाने तक के लाले पड़ गए।
      Udhar seth ka bura haal tha. Ghar mein khaane tak ke laale parh gae.
सोचा कि जाकर फ़कीरा से मिलूँ और विनती करूँ। शायद मेरी हालत
Sochaa ki jaakar Fkeera se miloon aur vinati karoon. Shaayad meree haalat
देख कर उसे कुछ तरस ही आजाए। यह सोच कर उसने अपनी बीवी से
dekh kar use kuchh taras hee aajaae. Yah soch kar usane apanee beebee se
दो रोटियाँ बाँधने को कहा और उस पार जाने के लिए गंगा की ओर चल
do roTiyaan baandhane ko kaha aur us paar jaane ke liye ganga kee or chal
दिया। पार ले जाने के लिये जब मल्लाह ने किराया माँगा तो करोड़ी ने
diyaa. Paar le jaane ke liye jaba mallaah ne kiraayaa maangaa to karorhee ne
बताया कि उसके पास केवल दो रोटी हैं। मल्लाह एक रोटी लेकर उसे
bataayaa ki usake paas keval do roTee hain. Mallaah ek roTee lekar use
पार उतारने पर राज़ी हो गया और एक रोटी लेकर उसे गंगा पार छोड़
paar utaarane par raazee ho gaya aur ek roTee lekar use gangaa paar chhorh
दिया।
diyaa.

करोड़ी मल फ़कीरा हलवाई से मिला और अपनी सारी कथा
Karorheemal fakeera halawaaee se mila aur apanee saaree katha
सुाई। सारी बात सुनकर फ़कीरा चुप रहा और कुछ नहीं बोला। थोड़ी
sunaaee. Saaree baat sunakar fkeera chup raha aur kuchh naheen bola. Thorhee
देर बाद उसने अन्दर जाकर दो बड़े बड़े अशर्फ़ियों के लड्डू बनाए और
der baad usane andar jaaka do barhe barhe asharfiyon ke laddoo banaae aur 
करोड़ी को मल देते हुए कहा कि वो इनको बच्चों के लिये ले जाए। सेठ
karorhee mal  ko dete hue kahaa ki vo inako bachchon ke liye le jaae. seTh
को इस बात का बहुत मलाल रहा कि फ़कीरा ने कोई हमदर्दी नहीं
ko is baat kaa bahut malaal rahaa ki fakeeraa ne koee hamdardee naheen
दिखाई और केवल दो लड्डू देकर टाल दिया। भरे मन से वो गंगा की
dikhaaee aur keval do laddoo dekar Taal diyaa. bhare man se vo gangaa kee
ओर बढ़ा और घर वापिस जाने के लिए मल्लाह से विनती करने लगा।
or baRhaa aur ghar vaapis jaane ke liye mallaah se vinatee karane laga

" वापिस जाने के लिए किराए के पैसे हैं क्या?" जब मल्लाह ने
        "Vaapis jaane ke lieye kiraaye ke paise hain kya?" jaba mallaah ne
ये सवाल किया तो सेठ ने कहा कि उस के पास दो लड्डू हैं। एक लड्डू
ye sawaal kiyaa to seTh ne kaha ki us ke paas do laddoo hain. ek ladduu
वो किराए का दे देगा और एक लड्डू से अपने बच्चों का पेट भरेगा।
vo kiraaye kaa de dega aur ek ladduu se apane bachchon kaa peT bharegaa.
क्योंकि रात हो रही थी और मल्लाह को वापिसी सवारी की कोई उम्मीद
kyonki raat ho rahee thee aur mallaah ko vaapisee savaaree kee koi ummeed
नहीं थी, उस ने सेठ से कहा कि अगर पार जाना है तो दोनों लड्डू देने
naheen thee, usne seTh se kahaa ki agar paar jaana hai to donoN laddoo dene
होंगे।
honge.

कोई और चारा न देख कर सेठ ने दोनों लड्डू बुलाकी मल्लाह
       Koee aur chaara na dekh kar seTh ne dono laddoo bulaakee mallaah 
को दे दिए और नाव में गंगा पार कर अपने घर आगया। वापिस आकर ko de diye aur naav mein ganga paar kar apane ghar aagaya. Vaapis aakar
मल्लाह ने सोचा कि वो इन लड्डूओं का क्या करेगा। उसने फ़कीरा के
mallaah ne socha ki vo in laddooauN ka kya   karega usane fakeera ke
यहाँ जाकर दोनों लड्डू दो रुपये में बेच दिये।
yahaan jaakar donon laddoo do rupaye mein bech diye.

लक्ष्मी का कहना सच्चा था, जहाँ रहना है वहीं जाना है
   luxamee kaa kahana sachcha tha, jahaan rahna hai vaheen jaana  hai.
      यह बारिश, मल्लाह, कड़ियों का बस केवल एक बहाना है।
      yah baarish, mallaah, kadhiyon ka bas kewal ek bahaana hai.

Difficult
Words
Meaning Difficult
Words
Meaning Difficult
Words
Meaning
aaj  today Aawas home/ place to stay  Ab  now
 Adhik a lot Agle Din next day  Asharfiyon the big pieces of gold and diamonds
Aur and Baadal clouds Baarish rain
Bachchon ke liye for children

Bah

float Bahaana excuse
Bahut very (too much) Bandhne to fold (put the food in a cloth) baRh  flood
Barsa  rained

Bech

sell

Bulaki

name of the Boat's man
Bura haal  bad status Chaara alternative Chaat ceiling
Chhorh leave Chhupa hide Chup silent
Dar fear

Darshan

to show oneself (Goddess showed herself) Daulat wealth
Dekhbhaal take care Dekhta  see Dhan daulat money and estates
dihaarhee the wages a labour earns Doosre

 other/ second

dukaan

 shop

Fakeera Halwai

Fakira (the name of the person) sweets maker Ganga paar

across Ganga

Ghir aaye started to come

Gir gaya

fell Haalat  situation Hamdardee sympathy

Hua

happened ikaTTee collect Itna so much
Jaana  go Jaati go Jahaan where
Jaisa the way Jeevan

life

kaaran  because of (reason)
Kadhiyon wooden blocks of the ceiling Kahaan  where Kaheen if
Kahne lagi started saying

Kamai

earning

Kami

shortage
Karodimal  name of a person (Karod is hundred thousand) Katha story Kewal only
Khane ke laale difficult to eat (because they did not have any money Khoob lot of Kinaare  beach
Kiraya ticket/money one pays to go on the other side Kismat luck Koi any
Kripa  grace Kuch something kulharee axe
Laddoo round sweet Laxmi Goddess of Wealth

Mahal

palace
Malaal felt bad Mallah Boat's man

Mujhe

I (me)
Na ho does not Naam  name Paanee water
Poori complete Prawas migration/immigrate

Pyaar

love
Raat night Raazee agreed Rahna to live
Rishta Naata  Relationship Saari all Sachcha true
Sachcha truthful Samapt finished

Sapna

 dream
Seth Rich person Soch ne to think

Sukhi

happy
Taras sympathy/mercy Tu  you Us paar on the other side of (Ganga)
Uski his Vahaan there Vaheen  there
Vaisa the same way Varsha rain

Vinti

 request
Vyapaar business        



अपनी प्रतिक्रिया लेखक को भेजें