अन्तरजाल पर साहित्य प्रेमियों की विश्राम स्थली मुख्य पृष्ठ
05.03.2012
 

डाऊनिंग स्ट्रीट के दस नम्बरी ने....
तेजेन्द्र शर्मा


डाऊनिंग स्ट्रीट के दस नम्बरी ने
दिया नया इक नारा है
इराक में बहता तेल है जितना
वो तो सभी हमारा है।

घन्टे भर में दुनियाँ ध्वस्त हो सकती है
जनसंहार के हथियारों का क्या होगा?
झूठ पे झूठ यहाँ पर बोले जाते हैं
सच्चाई से दूर कर लिया किनारा है,
डाऊनिंग स्ट्रीट के दस नम्बरी ने...

तानाशाही को नहीं बख़्शा जाएगा
इंकलाब इक वहाँ अनोखा आएगा
उनके हथियारों का करना है नाश हमें
अपने हथियारों का वारा ही वारा है
डाऊनिंग स्ट्रीट के दस नम्बरी ने...

आक़ा के आगे दुम हिलाता है
उसके इशारे पे झाड़ी में घुस जाता है
संसद और जनता को करता गुमराह है
नादानियाँ करता देखो बेचारा है
डाऊनिंग स्ट्रीट के दस नम्बरी ने...


अपनी प्रतिक्रिया लेखक को भेजें