तारकेश कुमार ओझा

हास्य-व्यंग्य
आर्ट आफ टार्चरिंग
​और बड़कू मामा बन गए बुद्धिजीवी​
क्रिकेट में स्विंग तो राजनीति में स्टिंग
ग़म खा - ख़ूब गा...!!
बुढ़ौती में तीरथ
मुखर-मुखिया, मजबूर मार्गदर्शक...!!
"सर" का डर...!