सुनील कुमार लोहमरोड़ 'सोनू'

कविता
खुशियाँ याद नहीं रहती
ये ज़रूरी था शायद