अंन्तरजाल पर साहित्य प्रेमियों की विश्राम स्थली

मुख्य पृष्ठ

05.03.2008

 
परिचय  
 
नाम :

डॉ. सुनील जोगी

 

डॉ. सुनील जोगी भारत के एक  बहुचर्चित कवि और बहुमुखी प्रतिभा के धनी व्‍यक्तित्‍व का नाम है। उन्‍होंने विविध विषयों की लगभग 75 पुस्‍तकों का प्रणयन किया है। विभिन्‍न राष्‍ट्रीय पत्र-प‍‍त्रिकाओं में स्‍तम्‍भ लेखन के साथ उन्‍होंने अनेक चैनलों पर भी अपनी प्रस्‍तुतियाँ दी हैं। जोगी जी ने भारत के अतिरिक्‍त अमेरिका, कनाडा, ग्रेट ब्रिटेन, फ्रांस, नार्वे, दुबई, ओमान, सूरीनाम जैसे अनेक देशों में कई-कई बार काव्‍य यात्राएँ की हैं तथा अब तक लगभग 2500 से अधिक कवि सम्‍मेलनों में काव्‍य पाठ और संचालन किया है। उन्‍हें आज देश की नई पीढ़ी के कवियों में सर्वाधिक र्जावान रचनाकार माना जाता है तथा मंच पर अद्भुत प्रस्‍तुति देने में उनका कोई सानी नहीं है।
श्री जोगी ने अनेकों कैसेटों और फिल्‍मों में गीत लिखे हैं तथा संसद भवन से लेकर विभिन्‍न मंत्रालयों व राज्‍य स्‍तरीय अकादमियों में
उच्‍च पदों पर कार्य किया है।
आजकल वे भारत सरकार के अनेक मंत्रालयों व राजनेताओं के सलाहकार हैं और एक
'हास्‍य वसंत' त्रैमासिकी का संपादन करते हैं।
उन्हें आअप उनके जापघर पर जाकर सम्पर्क कर सकते हैं -

www.hasyakavisammelan.com
 

सम्पर्क : kavisuniljogi@gmail.com