शम्भू नाथ


कविता

क्यों करोगी पढ़ाई
नशे बाज की यही कहानी
फिर -- पूर्णिमा रात होगी
लालू जी खेलत है होली

आलेख

अनारा दीदी का झमेल
कब जायेगी इस गाँव से असभ्यता
बैकुण्ठ हो गया दादा जी को