शबनम शर्मा


कविता
अकेलापन
अटूट सत्य
इन्तज़ार
एहसास
कल्पना
क़ैद करना अरमानों को
खिलौना
ग़रीब
चिड़िया
चुनरी
चेतावनी
चौराहा
टीस
डर
तपती धरती
तस्वीर
दरवाज़ा
दौड़
धरती
धोखा
नन्हें फरिश्ते
नववर्ष
पनघट सूने हो गये
पराया धन
पीपल का पेड़
पुराना घर
पोटली
प्रश्न
प्रेमिकायें
बंधन
बबुआ
बिछोह
मंगलसूत्र
मरुस्थल
महीना अगस्त का
माँ
माँ
माँ
माँ-जन्म
मेरा घर
मेरी ज़िन्दगी की किताब
मेरे नन्हे
मैं कहाँ गलत थी?
याद
रोटी
रोटी और आदमी
विछोह
विछोह-१
विधवा
वो कोना
वो क्षण
वो चिड़िया
वो चूल्हा
वो वृद्धा
व्यथा शब्दों की
शब्द
स्पर्श
हर रोज़
लघुकथा
अनाथ
कंगन
कसौटी
घर
घर किसका?
चयन
जवाब
छटपटाहट
छुट्टियाँ
तेरहवीं
दर्द
दादा-दादी
दान

दिखावा
पढ़ाई
पढ़ाई-2
पसंद
पार्टी
पैसा
फैसला
बरसात
बहू
बाबूजी
बुआ
माँ और दिवाली
मेरे बेटे
मिसाल
मूल्यांकन
रसम
राखी
रिश्ते
लड़की
वह युवक
वो घर
वो परिवार
वो सम्मान
शान
ससुराल
सोच