अन्तरजाल पर साहित्य प्रेमियों की विश्राम स्थली

मुख पृष्ठ
02.27.2014


मुस्कुराना ज़रूरी है

डाक्टर ने कहा है
मुस्कुराना ज़रूरी है

ग़म में है हर आदमी
रोने से क्या होगा
ग़म में भी मुस्कुराएगा
तो ग़म भाग जाएगा।

सफलता असफलता
दो पहलू हैं ज़िन्दगी के
जो असफलता पर भी मुस्कुराएगा
वही सफल कहलाएगा।

समाज में अपनी जगह बनानी है
तो मिलो सभी से मुस्कुरा कर
सभी आपको चाहेंगे
यदि आप मुस्कुराएँगे।


अपनी प्रतिक्रिया लेखक को भेजें