अन्तरजाल पर साहित्य प्रेमियों की विश्राम स्थली
ISSN 2292-9754

मुख पृष्ठ
06.02.2016


माँ

"मम्‍मा, यू नो, मेरी फ्रेंडस कहती हैं कि आई लुक फ़ैट...कल से दो ही रोटी खाऊँगी"।"

"नहीं बिटिया, तुम बिल्‍कुल मोटी नहीं हो बल्कि बिल्‍कुल फ़िट हो।" "ना मम्‍मा, ओनली टू चपाती फ्रोम टुमारो...दिस इज़ फ़ाईनल!"

अगले दिन बिटिया ने देखा, माँ ने उसके लिये दो ही रोटी बनाईं पर रोटी का आकार दुगुना था और मोटाई भी।


अपनी प्रतिक्रिया लेखक को भेजें