अन्तरजाल पर साहित्य प्रेमियों की विश्राम स्थली मुख्य पृष्ठ
06.01.2008
 

नाम है मेरा विश्वास
रवि कवि


हौसला - खोटी उम्मीद का विकल्प हूँ मैं
साँझ से जुदा होते उजियारे की
आस का बन्धन हूँ मैं
मोतियों से गुँथी माला को
बाँध कर रखने वाला धागा हूँ मैं
अतृप्त हृदयों की प्यास को
बुझाने वाला अमृत हूँ मैं
धरा में शान्ति के विचार उत्पन्न करने वाला दूत हूँ मैं
नफ़रत को मिटा के
प्रेम से सर्वस्व भरने वाली अदृश्य शक्ति हूँ मैं
अंधकार से प्रकाश को मिलाने वाली
अद्‌भुत कड़ी हूँ मैं
ज़माने के हर दर्द को
रंग से रँगीन करने वाला रंगरेज़ भी हूँ मैं

कभी छिपा हुआ सत्य
कभी उघडा हुआ दर्शन है मेरा
मैं आज के संसार में जीवित हूँ मगर
अपनी पहचान से एकदम गुमनाम सा
खोया खोया, मगर हर दिल में
रहता एकदम सक्रिय सा
जानते हो मुझे क्या तुम
नाम है मेरा विश्वास


अपनी प्रतिक्रिया लेखक को भेजें