अंन्तरजाल पर साहित्य प्रेमियों की विश्राम स्थली

मुख्य पृष्ठ

06.16.2007

 
परिचय  
 
नाम : डा० रामसनेही लाल शर्मा यायावर
जन्म : ५ जुलाई १९४९
फिरोजाबाद जनपद (उत्तर प्रदेश -भारत) गाँव- तिलोकपुर
शिक्षा : एम. ए., पी - एच. डी. , डी. लिट. अध्ययन का विषय - हिन्दी
कार्य क्षेत्र : एस० आर० के० (पी० जी० ) कालेज ,फिरोजाबाद (डा. बी.आर. अम्बेडकर विश्वविद्यालय आगरा से सम्बद्ध) के शोध एवं स्नातकोत्तर हिन्दी विभाग में रीडर
  प्राध्यापक , गीतकार , कवि ,लेखक ,कहानीकार ,व्यंग्यकार व शोध - निदेशक
प्रकाशन : प्रकाशित कृतियाँ -
१. मन पलाशवन और दहकती संध्या (नवगीत व गजल संग्रह १९८९)
२. गलियारे गंध के (प्रणय परक नवगीत संग्रह)
३. पांखुरी -पांखुरी (मुक्तक संग्रह २०००)
४. सीप में समन्दर (गजल संग्रह २०००)
५. समकालीन हिन्दी गीति काव्य (१९७० - १९९५);  संवेदना और शिल्प (शोध प्रबंध) २००६
६. मेले में यायावर - (गीत संग्रह २००६)
अन्य साहित्यिक कार्य -
६५ सम्पादित कृतियों में लेखन - सह्भागिता, राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय स्तर की
असंख्य पत्र -पत्रिकाओं में सहस्राधिक रचनाओं का प्रकाशन, ६ महत्वपूर्ण ग्रंथों
का सम्पादन, आकाशवाणी के आगरा, दिल्ली, मथुरा केंद्रों से रचनाओं का प्रसारण
शोध -निदेशन में ३२ शोधार्थियों को पी- एच० डी० प्राप्त, ७ अभी भी शोधरत
सम्प्रति :  भारतवर्ष में रहकर महाविद्यालय में सेवारत तथा निरंतर साहित्य -साधना में सक्रिय
रुचियाँ : स्वाध्याय ( इतिहास व दर्शन के ग्रंथों का अध्ययन), भ्रमण, समान रुचि के लोगों से मित्रता
उपाधियाँ
व सम्मान :
साहित्य वाचस्पति (अखिल भारतीय ब्रज साहित्य संगम), गीत श्री, सह्स्राब्दी हिन्दी सेवी, गीत विहग आदि
सम्पर्क : dr_yayavar@yahoo.co.in
dr_yayawar@epatra.com