रामचरण दीवान ''दिव्य''

कविता
आस्था का आडम्बर