अन्तरजाल पर साहित्य प्रेमियों की विश्राम स्थली
ISSN 2292-9754

मुख पृष्ठ
03.30.2017

 
परिचय  
 
नाम : राम कृष्ण खुराना
डेल्टा, (ब्रिटिश कोलंबिया) कैनेडा
  11 फरवरी 1948 का दिन वह दिन था जब मैंने अपनी ममतामयी माँ की गोद में पहली किलकारी भरी थी। इस संसार को छोड़ने के पश्चात भी नाम चलता रहे यह इच्छा बचपन से ही रही है। इस तृप्ति की पूर्ति भी लेखक-जीवन में अनुभव करता हूँ। पहली रचना (एक सत्य कथा) 1970 में दैनिक हिन्दुस्तान, दिल्ली से प्रकाशित हुई। इसके पश्चात मेरी लगभग 100 से अधिक रचनाएँ सारिका, रविवार, मिलिन्द, चुलबुला, कहानीकार, एकांत, नवभारत टाईम्स, हिन्दुस्तान, दैनिक ट्रिब्यून, विनीत, अरा सृष्टि, स्वर्णिम प्रकाश, युगेन्द्र, वीर अर्जुन, पंजाब केसरी, वीर प्रताप, शिवालिक सन्देश तथा पब्लिक सिंडीकेट द्वारा कई लब्ध प्रतिष्ठ पत्र-पत्रिकायों में प्रकाशित हो चुकी हैं। कई रचनाएँ कहानी व लघुकथा संस्करणों में प्रकाशित। तीन रचनाएँ आकाशवाणी (आल इंडिया रेडियो) से प्रसारित। कई रचनाएँ पुरस्कृत। शिवालिक सन्देश में स्तम्भ लेखक के रूप में प्रति सप्ताह व्यंग्य लेखन। दैनिक जागरण के मंच जागरण जंक्शन डॉट कॉम द्वारा प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार प्राप्त। जागरण जंक्शन डॉट कॉम द्वारा ही सर्वोत्तम लेखन के लिए हाल ऑफ़ फेम में चयनित। दैनिक जागरण के मंच जागरण जंक्शन डॉट कॉम द्वारा ब्लॉकगर ऑफ़ द इयर चयनित। कनाडा से प्रकाशित मैगज़ीन उड़ान में मेरी हिन्दी में प्रकाशित रचना कच्चे धागे का पंजाबी अनुवाद प्रकाशित।