अन्तरजाल पर साहित्य प्रेमियों की विश्राम स्थली

मुख पृष्ठ
04.20.2014


योगाभ्यास

सुबह सुबह उठकर करो
प्रतिदिन योगाभ्यास
दिनभर फिर न रहेगा
मन और चित्त उदास।
होना कभी निराश मत
निस दिन करो प्रयास
तुम्हें मिलेगी सफलता
रखो आत्म विश्वास।


अपनी प्रतिक्रिया लेखक को भेजें