अन्तरजाल पर साहित्य प्रेमियों की विश्राम स्थली

मुख पृष्ठ
02.26.2014


सरकारी फंड‌

मैं सरकारी दौरे पर जा रहा था। एक सहयोगी भी साथ में था। बस में बैठे-बैठे हम लोग चर्चा कर रहे थे कि इस साल लक्ष्य में दिये काम पूरे नहीं हो पायेंगे क्योंकि सरकारी फंड समाप्त हो चुका है। बस में सफाई करने वाला कर्मचारी झाड़ू लगा रहा था। सारा कूड़ा-कचरा एकत्रित कर वह बस के दरवाज़े पर फुट बोर्ड पर रखकर चलता बना। बहुत देर तक जब वह वापिस नहीं आया तो हम लोग बस से उतरकर‌ उसे तलाशने लगे। दूसरी बस से उतरते देख हमने उससे पूछा,

"कचरा फुटबोर्ड पर क्यों छोड़ दिया मुसाफिरों को चढ़ने उतरने में परेशानी हो रही है?"

"बाबूजी फंड ख़तम हो गया है जब फंड आयेगा तो कचरा उठा लेंगे। तीन माह से वेतन नहीं मिला है, जब सरकारी फंड समाप्त हो जाने पर आप लोग काम बंद कर देते हैं तो हमारा फंड समाप्त‌ हो जाने पर मैं क्यों काम करूँ," इतना कहकर वह चल दिया।

मैं सोचने लगा बात तो सोलह आने सच है क्यों सरकारी फंड समाप्त हो जाता है साल समाप्त होने के पहले?... क्यों?


अपनी प्रतिक्रिया लेखक को भेजें