अन्तरजाल पर साहित्य प्रेमियों की विश्राम स्थली
ISSN 2292-9754

मुख पृष्ठ
02.19.2015


कल के प्रश्न

पापा केवल झाड़ू लेकर
अपनी फोटो मत खिंचवाओ।
न ही छपकर अखबारों में,
अपनी झूठी शान बढाओ।

सच में ही कुछ करना हो तो,
बाहर चलकर सड़क बुहारें।
झूठ दिखावे के रावण को,
पूरी तरह जलाकर मारें।

छोटी गुड़िया ने यह कहकर,
बाहर जाकर सड़क बुहारी।
रेपर बीने कागज़ बीने,
और बीन ली पन्नी सारी।

आगे बढकर डस्टबिन में,
गुड़िया कचरा डाल रही है
झूठ दिखावे के सिक्के से,
कल के प्रश्न उछाल रही है।


अपनी प्रतिक्रिया लेखक को भेजें