अन्तरजाल पर साहित्य प्रेमियों की विश्राम स्थली
ISSN 2292-9754

मुख पृष्ठ
03.11.2016


डेडू

लड्डू मुझे दिला दो डेडू।
पेड़ा मुझे खिला दो डेडू।

गला सूखता जाता मेरा,
लस्सी मुझे पिला दो डेडू।

लगे संतरे ढेर पेड़ में,
पकड़ो डाल हिला दो डेडू।

चड्डी मेरी हुई पुरानी,
नया पेंट सिलवा दो डेडू।

लाकर रॉकेट आसमान की,
अभी सैर करवा दो डेडू।


अपनी प्रतिक्रिया लेखक को भेजें