अन्तरजाल पर साहित्य प्रेमियों की विश्राम स्थली

मुख पृष्ठ
04.26.2014


कविता

कविता लिखते समय
अगर कोरे सफ़े में से
पोटा-पोटा कटता वृक्ष ना दिखे
तो ठहर जाना
अभी कविता ना लिखना।


अपनी प्रतिक्रिया लेखक को भेजें