अन्तरजाल पर साहित्य प्रेमियों की विश्राम स्थली
ISSN 2292-9754

मुख पृष्ठ
03.22.2015


जीत

"अरे यार! यहाँ प्रतियोगिता जीतना कौन सी बड़ी बात है। मैं जीत सकता हूँ?"

"लगी शर्त?"

"हाँ, लगी 500 - 500 रुपए की शर्त, "संतोष ने कमल से कहा।

दूसरे ही पल संतोष ने अपनी प्रोफाइल का चित्र बदल कर एक ख़ूबसूरत लड़की का चित्र डाल दिया और लिखा यह मेरी असली प्रोफाइल है। फिर यार दोस्तों को प्यार भरा सन्देश भेज दिया, "जो कोई मुझ से प्यार करता हो वो मेरी इस रचना को लाईक करे।"

......फिर क्या था, उस रचना पर ढेर सारे लाईक व कमेंट मिले और वह रचना मतों के आधार पर विजेता घोषित कर दी गई।


अपनी प्रतिक्रिया लेखक को भेजें