अन्तरजाल पर साहित्य प्रेमियों की विश्राम स्थली
ISSN 2292-9754

मुख पृष्ठ
07.24.2016


बालकनी में प्यासी चिड़िया

मेरी बालकनी में आयी
प्यासी चिड़िया रानी
इधर-उधर वो ढूँढ रही थी
पानी कहाँ है भाई
ख़ूब ज़ोर की प्यास लगी थी
फुदक-फुदक चिल्लाई।

पिंकी ने जब
यह सब देखा
किचन में दौड़ी आयी
मम्मा-मम्मा बालकनी में
प्यासी चिड़िया आयी

मम्मा अपना काम छोड़कर
झट से बाहर आयी
एक कटोरा पानी भरकर
ऊपर वो रख आयी
पानी पीकर चिड़िया रानी
मुझे देख मुस्कायी।


अपनी प्रतिक्रिया लेखक को भेजें