अंन्तरजाल पर साहित्य प्रेमियों की विश्राम स्थली

मुख्य पृष्ठ

08.16.2007

 
परिचय  
 
नाम :

डॉ. महेश परिमल

  जीवन यात्रा जून १९५७ से, भोपाल में रहने वाला छत्तीसगढया गुजराती, हिंदी में एम.ए. और भाषाविज्ञान में पी-एचडी., २८ वर्षों से पत्रकारिता और साहित्य से जुडाव, अब तक देश भर के समाचार पत्रों-पत्रिकाओं में करीब ७०० सम-सामयिक आलेखों का प्रकाशन, ललित निबंध में विशेष रुचि, परिस्थितियाँ अनुकूल न होने के कारण किसी भी पुस्तक का प्रकाशन नहीं, आकाशवाणी से करीब ५० फीचर का प्रसारण, कुछ  पुरस्कृत भी, शालेय और विश्वविद्यालय स्तर पर लेखन और अध्यापन, धारावाहिक चाचा चौधरी के लिए अंशकालीन पटकथा लेखन, हिंदी-गुजराती के अलावा छत्तीसगढी, उडीया, बंगला और पंजाबी भाषा का ज्ञान, सम्प्रति भास्कर ग्रुप में अंशकालीन समीक्षक के रूप में कार्यरत्।
   
सम्पर्क : maheshparimal@yahoo.co.in