अन्तरजाल पर साहित्य प्रेमियों की विश्राम स्थली
ISSN 2292-9754

मुख पृष्ठ
03.22.2016


फ़न क्या है फ़नकारी क्या

फ़न क्या है फ़नकारी क्या
दिल क्या है दिलदारी क्या

जान रही है जनता सब
सर क्या है, सरकारी क्या

झाँक ज़रा ग़ुर्बत में तू
ज़र क्या है, ज़रदारी क्या

सोच फ़क़ीरों के आगे
दर क्या है, दरबारी क्या


अपनी प्रतिक्रिया लेखक को भेजें