माधव नागदा

कविता
कक्षा की सबसे होशियार लड़की
प्रतिरोध
फिर कठिन होगा
बचा रहे आपस का प्रेम
बचा रहे औरत का चिड़ियापन
मेरा कहा कहाँ सुनती हो माँ!
रच लेता है अक्सर