डॉ. कौशल किशोर श्रीवास्तव

दीवान
कई ख़ुदा मुझको यहाँ तक लाए हैं
कविता
होली (हास्य)
होली हटक्कली (हास्य)
आलेख
एक शिक्षक की सेवा निवृति