अन्तरजाल पर साहित्य प्रेमियों की विश्राम स्थली
ISSN 2292-9754

मुख पृष्ठ
10.15.2016


बेरंग

ये क्या कर दिया तुमने
हर एक के अस्तित्व निखारने के लिए
सारे के सारे रंग को
एक दूसरे से अलग
निकालकर बर्बाद कर दी
उनकी इंद्रधनुषी सतरंगी दुनिया।


अपनी प्रतिक्रिया लेखक को भेजें