अन्तरजाल पर साहित्य प्रेमियों की विश्राम स्थली

मुख पृष्ठ
02.28.2014


विद्रोह

अभाव मेरा नहीँ
परिस्थितियों का

स्थितियाँ बदल सकतीं
केवल एक अनल-कण से।

धधक रही जो उरस्थ
ज्वाला अत्याचार से
संहार से।

होगा पगचाप दिशा-सूचक
इस विद्रोह का।


अपनी प्रतिक्रिया लेखक को भेजें