अन्तरजाल पर साहित्य प्रेमियों की विश्राम स्थली मुख्य पृष्ठ
01.20.2008
 
नाम
के.पी. सक्सेना ’दूसरे’

नाम तो तब दर्ज होंगे
दाम का जब काम होगा
कुछ नए उग आएँगे
रिश्ते
उन्हें कितना मिला
और होगी घोषणा फिर
जेड सुरक्षा के तले
कायराना है ये हरकत
भर्त्सना करते हैं हम।

अपनी प्रतिक्रिया लेखक को भेजें