अन्तरजाल पर साहित्य प्रेमियों की विश्राम स्थली

मुख पृष्ठ
04.29.2014


वार

जब कोई
ज़रूरत से ज़्यादा
सर नीचा करके
व्यवहार करता है,
याद रखना
साँप झुककर ही
वार करता है।


अपनी प्रतिक्रिया लेखक को भेजें