अन्तरजाल पर साहित्य प्रेमियों की विश्राम स्थली
ISSN 2292-9754

मुख पृष्ठ
03.01.2016


पलाश
(हाइकु)

1.
पलाश-वन
पद्मिनी का मानो
जौहर-यज्ञ।
2.
तुम्हारी होली!
शहीद हुए देखो
पलाश-पुष्प।
3.
पलाश-वन
बन गई देह ये
तुम्हारे बिन।
4.
जाने कब से
और किससे जले
पलाश–प्रेमी।
5.
लाल -पीले हैं
जन्म से ही क्रोधित
पलाश–पुष्प।
6.
पलाश-पुष्प
मानो नव-वधुएँ
सभा में साथ।


अपनी प्रतिक्रिया लेखक को भेजें