हसन पठान

शोध निबन्ध
बसवेश्वर के वचनों में सामाजिक चेतनाः एक विश्लेषण
यथार्थ के धरातल की कविताएँ और उसकी विविधता : नारायण सुर्वे