हरिपाल सिंह रावत

कविता
एक नन्ही सी परी
कौन कहता है इश्क़ इक बार होता है?
ख़ुदखुशी
तिरंगी कफ़न
माँ तेरी ममता को बहुत याद करता हूँ