अन्तरजाल पर साहित्य प्रेमियों की विश्राम स्थली मुख्य पृष्ठ
03.22.2009
 

समय को जानो
दिनेश ध्यानी


समय को जानो
इसे पहचानो
इसका बहुत है
मोल रे भैया।
इसके आगे
सब हारे हैं
इसकी गति
अनमोल है भैया।

समय बड़ा है
सार तत्व है
जीवन जग में
अधिक सत्य है।
समय है सबसे ते रे।।

जिसने जानी
जिसने मानी
जिसने समझी
कीमत इसकी
उसकी पार है नैय्या रे।।


अपनी प्रतिक्रिया लेखक को भेजें