अन्तरजाल पर साहित्य प्रेमियों की विश्राम स्थली
ISSN 2292-9754

मुख पृष्ठ
05.01.2017


कहानीकार

कहानी क्या है?
क्या लिखते हैं असफल व्यक्ति?
कहानी क्या है?
जीवन में प्यार पाने की कोशिश।
या
शरीर को सौन्दर्य दृष्टि से देखना।
कितने शिशु फूल
मृत्यु को वरण करते हैं
क्या इससे कहानी बनती है ?
क्या टूटना ही होता है कहानीकार का स्वभाव ?
या
मिट जाना नियति ?
क्या संघर्षपूर्ण नहीं है उसका जीवन ?
कहानीकार होता है चिरदृष्टा
जीवन व मरण बेसबाल का खेल।
वह नटवर है
चिरन्तन नृत्यशील रहता है।
जीता रहता है
और जीता रहता है
समय की इमारत के अन्दर।
सत्य की खोज में बुरा नहीं होता कोई प्रयोग
बुरा होता है मनुष्य की आत्मा पर
फैला नर्क।
महानता निरर्थक है
और सफलता छल ।
पूर्णता रचनाकार की घृणित मृत्यु।
अपूर्णता में डूब जाना है जीवन।
कहानी सदैव अधूरी ही रहती है।
कहानीकार बिना पाँव के अधूरा ही जीता है।


अपनी प्रतिक्रिया लेखक को भेजें