अन्तरजाल पर साहित्य प्रेमियों की विश्राम स्थली
ISSN 2292-9754

मुख पृष्ठ
07.19.2014


दो का पहाड़ा

अपना-अपना खेलो खेल
दो में दो का कर दो मेल
चार में दो को और मिलाया
नया अंक तब छह कहलाया
इसमें दो को धरा ढकेल
भैया बना कंस* का फेर
भैया धरियो दस पर ध्यान
बारह में दो का स्थान
दो सत्ते चौदह तुम जानो
और अट्ठे सोलह पहचानो
नेम अठारह दहाईं बीस
पहाड़ा दो का ऐसे सीख।

*कंस ने द्रौपदी के आठ बच्चों को मारा था। यहाँ कंस का फेर


अपनी प्रतिक्रिया लेखक को भेजें