अन्तरजाल पर साहित्य प्रेमियों की विश्राम स्थली
ISSN 2292-9754

मुख पृष्ठ
09.02.2014

 
रिचय  
 
नाम : डॉ. दीप्ति गुप्ता
 

रूहेलखंड विश्वविद्यालय के हिंदी विभाग में रीडर पद पर कार्यरत रहीं। 3 साल के लिए 'भारत सरकार' द्वारा 'मानव संसाधन विकास मंत्रालय', नई दिल्ली में 'शैक्षिक सलाहकार' पद पर नियुक्त की गईं। तदनन्तर पुणे विश्वविद्यालय में अध्यापनरत रहीं। साथ ही एक प्रतिष्ठित अनुवादक के रूप में सरकारी एवं Casp, Uniscef, Multiversity Software Comp. आदि विख्यात गैर-सरकारी संस्थानों में अपनी सेवाएँ दी। विश्वविद्यालय से स्वैच्छिक अवकाश लेकर, अब पूर्णतया रचनात्मक लेखन में संलग्न।

हिंदी और अंग्रेज़ी में कथा-कहानियाँ व कविताएँ, सामाजिक सरोकारों के पत्र, प्रसिद्ध साहित्यिक पत्रिकाओं - "साक्षात्कार"  (भोपाल), "गगनांचल" (ICCR, Govt of India), "अनुवाद"," नया ज्ञानोदय" (नई दिल्ली), हिंदुस्तान,  पंजाब केसरी,  नवभारत टाइम्स, जनसत्ता, विश्वमानव, सन्मार्ग (कलकत्ता) आदि और मॉरिशस के जनवाणी तथा Sunday Vani, Maharashtra Herald, Indian Express, Pune Times ( Times of India) में प्रकाशित।

Internet पर English  की 30 कविताओं का प्रसारण, जिनमें से अनेक कविताएँ गहन विचारों, भावों, सम्वेदनाओं व उत्कृष्ट भाषा के लिए "All Time Best " के रूप में सम्मानित एवं स्थापित।

हिंदी में 'अंतर्यात्रा' और अंग्रेज़ी में 'Ocean In The Eyes' कविता संग्रह प्रकाशित व पद्मविभूषण 'नीरज जी' द्वारा विमोचन।

'शेष प्रसंग' (कहानी संग्रह) और 'समाज और संस्कृति के चितेरे: अमृतलाल नागर' (उनके उपन्यासों पर एक समीक्षात्मक पुस्तक) इस वर्ष प्रकाशित। 'शेषप्रसंग' (कहानी संग्रह) की अविस्मरणीय उपलब्धि है -कथा सम्राट 'कमलेश्नर जी' द्वारा भूमिका में अभिव्यक्त बहुमूल्य विचार !

दिल्ली और पुणे रेडिओ पर अनेक चर्चाओं और साक्षात्कारों में भागीदारी।

सम्पर्क : drdeepti25@yahoo.co.in