अन्तरजाल पर साहित्य प्रेमियों की विश्राम स्थली

मुख पृष्ठ
02.25.2014


तितली

मेरी तितली बड़ी सयानी
लगती है बगिया की रानी
है यह सब फूलों की दीवानी
उड़ती फिरती यह मस्तानी।


अपनी प्रतिक्रिया लेखक को भेजें