अवनीश कुमार गुप्ता


कविता

गुड़िया हूँ मैं
प्यार किया है मैंने
मेरी यादों में

दीवान

जिसकी आँख से आँसू ...
जो ग़म है सीने में ...
मेरा रोशनी से कोई नाता नहीं