अंशु जौहरी


कविता

मैं चुप हूँ
स्वतंत्रता
उसके लिये भी....