अलका प्रमोद

कहानी
अब और नहीं
अधूरे सपने
एक प्रश्न
और बादल छँट गए
प्रायश्चित
वह आवाज
कविता
काश
सुनामी
होलिका दहन
पुस्तक समीक्षा
सच क्या था - एक सार्थक कृति
समीक्षक - डॉ. अमिता दुबे, सहायक सम्पादक, उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान
स्वयं से संघर्ष करती कहानियां: "स्वयं के घेरे" - डॉ. अमिता दुबे