अच्युतम केशवम

कविता
तुम मिले तो यूँ लगा
मेरा संसार तुम्हीं से है
यह अधखिली कली पाटल की
राज़ की यह बात
हाऊ चॉकलेटी, वाऊ चॉकलेटी