अन्तरजाल पर साहित्य प्रेमियों की विश्राम स्थली
ISSN 2292-9754

मुख पृष्ठ
02.06.2015


शब्दों के संकेत

अपनी आँखों पर लगे,
पूर्वाग्रह के चश्में को उतारकर,
मुझे दे दो।
फिर उसे देखो, परखो, पुकारो,
हाथों से नहीं, हृदय से उसकी आरती उतारो।
क्योंकि देखना, पहचानने की पहली शर्त है।
मार्गदर्शकों ने तुम्हें नुस्खे बतायें हैं,
सुझाव दिया है,
किन्तु तुमने उन्हें नहीं समझा,
मात्र शब्दों को शास्त्र के रूप में संग्रहित किया है।


अपनी प्रतिक्रिया लेखक को भेजें