अन्तरजाल पर आपकी मासिक पत्रिका

अन्तरजाल पर साहित्य-प्रेमियों की विश्राम-स्थली
वर्ष: 10, अंक 96,  दिसम्बर द्वितीय अंक, 2014
ISSN 2292-9754

लेखक या सम्पादक की लिखित अनुमति के बिना पूर्ण या आंशिक रचनाओं का पुर्नप्रकाशन वर्जित है। लेखक के विचारों के साथ सम्पादक का सहमत या असहमत होना आवश्यक नहीं।  सर्वाधिकार सुरक्षित। साहित्य कुंज में प्रकाशित रचनाओं में विचार लेखक के अपने हैं और साहित्य कुंज टीम का उनसे सहमत होना अनिवार्य नहीं है।
सम्पादक:- सुमन कुमार घई; साहित्यिक परामर्श:- डॉ. शैलजा सक्सेना; सहायता - विजय विक्रान्त; संरक्षक - महाकवि प्रो. हरिशंकर आदेश

कविता   कहानी   लघु-कथा   लोक-कथा   आपबीती   आलेख    हास्य-व्यंग्य    हास्य-व्यंग्य कविताएँ    महाकाव्य   अनूदित-साहित्य
लेखक   संकलन    ई-पुस्तकालय   साहित्यिक-चर्चा   शोध निबन्ध    साहित्यिक-समाचार    शायरी   शायर   बाल साहित्य
हिन्दी ब्लॉग    पुस्तक समीक्षा / पुस्तक चर्चा    साक्षात्कार
इस अंक में     पुराने अंक

सर्वेक्षण : आधुनिक युग में पुस्तक प्रकाशन के विविध विकल्प उपलब्ध हैं। इन विकल्पों में सबसे अधिक लोकप्रिय और सहज ई-बुक्स है। यह पुस्तकें आप ई-रीडर, स्मार्ट फोन, टैब्लेट्स, पीसी और लैपटॉप पर पढ़ सकते हैं। यह पुस्तकें आपके व्यक्तिगत पुस्तकालय का भाग बन जाती हैं। ई-बुक्स की कीमत आम पुस्तकों से बहुत कम होती है और और प्रकाशन भी बहुत सस्ता होता है। यह आपकी शेल्फ़ पर जगह भी नहीं घेरतीं। इस विकल्प के बारे में साहित्य कुंज ने एक सर्वेक्षण करने का प्रयास शुरू किया है। आप सुधी पाठकों से निवेदन है कि इसमें अवश्य हिस्सा लें। इंटरनेट पर साहित्य के नए विकल्प के लिये यह महत्वपूर्ण है।
                                                   - सुमन कुमार घई
                                                     सर्वेक्षण आरम्भ करें :

इस अंक में कहानियाँ -
हार गया फौजी बेटा
प्रदीप श्रीवास्तव 
बंद घड़ी
श्वेता मिश्र
...और सत्संग चलता रहा
डॉ. नरेंद्र शुक्ल
हास्य - व्यंग्य - बाल साहित्य - लघु कथा -
भारत में यौन क्रांति का सूत्रपात - हरि जोशी
एक झोला छाप वार्ता...... - सुशील यादव
सच्ची मित्रता (कहानी) - रमेश ‘आचार्य’
एक ज़रा सा बच्चा, राजा के बड़े-बड़े कान (कहानी) - प्रभुदयाल श्रीवास्तव
अक्ल बिना नक़ल, अहितकारी सच, गुण का ग्राहक, टूटी डोर (लोक कथाएँ) - सुधा भार्गव
पुरस्कार - सुधा भार्गव
दवा की गोली - तपोजा दत्ता
मूल्यांकन, शान, चयन, बहू, बुआ - शबनम शर्मा
लड़ेगा जो रहेगा वही ज़िन्दा - ज्ञान्ती सिंह
आलेख -  शोध निबन्ध -  शोध निबन्ध -  

काशी : सकल-सुमंगल–रासी - डॉ. मनीष कुमार सी. मिश्रा
"शृंखला की कड़ियाँ"- नारी-मुक्ति की दिशा
एलोक शर्मा
तुलसीदास एवं भानुभक्त कृत रामचरितमानस में समानता
डॉ. मोहम्मद मज़ीद मिया
हिन्दी रंग यात्रा के महत्‍वपूर्ण पड़ाव: एक सिंहावलोकन
विकास वर्मा
कन्नड़ के वचन आंदोलन और स्त्री मुक्ति
संतोष महिपती
उत्तर आधुनिकता के आईने में दलित समाज का सामाजिक - आर्थिक चिंतन : एक नूतन मूल्यांकन
नानकचंद
छायावाद : सांस्कृतिक और भावनात्मक
डॉ. राम मनोहर उपाध्याय
साहित्यिक निबन्ध - साहित्य और सिनेमा - अनूदित साहित्य

महादेवी का साधना दीप
डॉ. रश्मि शील

"बेन-हर" (BEN-HUR) रोम का साम्राज्यवाद और सूली पर ईसा मसीह का करुण अंत
: साहित्य और सिनेमा

डॉ. एम वेंकटेश्वर

सदानीरा ही रही मैं
प्रवीण शर्मा
मूल लेखक :
विद्या पैनिकर (प्रपैचुअल वेटनेस)
कविताएँ -  
शम्मा नहीं जलाऊँगा... - अवधेश कुमार मिश्र "रजत"
एक साल बीत गया, कलियुग की भगीरथ, नई हवा, मन वृन्दावन, बुलबुला, ख़्वाब - रेखा राजवंशी
उदास बरगद, नारी, बेरंग - कामिनी कामायनी
हाइकु - अनिता ललित
हस्ती इनकी, दो बात प्रेम की, मैं हूँ एक स्त्री - विमला भण्डारी
कैसे उड़ें गगन, श्रमेव जयते, हम आम आदमी, पूर्वाभास - लक्ष्मीनारायण गुप्ता
शाम, ख़्वाब, अमलतास - श्वेता मिश्र
तुम केवल, पिताजी की सूनी आँखें - भारती पंडित
शरद ऋतु - भगवत शरण श्रीवास्तव 'शरण'
मेरी हक़ूमत हैरान है पहले भी परेशान थी... - डॉ. अमिता शर्मा
स्त्री - परी एम. श्लोक
भाग्य रेख में कुछ संशोधन, उम्र की शाख से पत्र झरते रहे - राकेश खण्डेलवाल
कुछ नये मुक्तक, हर एक दिन - मुक्तक - सुधेश
ख़्वाब
, ज़िंदगी - विकास वर्मा
क्या होगा भगवान देश का!, बेटी, तुम्हारे लिए - आचार्य बलवन्त
माँ की गोद, हम ऐसे देश के वासी हैं...- मधु शर्मा,
प्रकृति, अंकुर - मनोरंजन कुमार तिवारी
मन के बंद दरवाज़े - रजनी छाबड़ा
भगवान, गलती, पेड़, माँ, उम्मीद, संवेदनाएँ - डॉ. राजकुमार पाटिल
रिश्तों की राख, शायद मैं आग हूँ!, कलयुगी अवतार - निखिल विक्रम सिंह
देश की याद - रचना लाल

शायरी -
तुम्हारी बात,  इक दीप जलाए बैठे हैं - रेखा राजवंशी
नए मकां है...., बदल गई है लय जीवन की... - देवमणि पांडेय
मौत पास है खड़ी - डॉ. अनिल चड्डा
पुस्तक समीक्षा -  पुस्तक समीक्षा -  पुस्तक समीक्षा - 

यहाँ दर्द की नदी बहती है
डॉ. उर्मिला अग्रवाल

आँगन की धूप – कविता की वापसी है
डॉ. सुशील कुमार पाण्डेय ‘साहित्येन्दु’

साक्षी है पीपल
डॉ. एम वेंकटेश्वर
यात्रा संस्मरण - संस्मरण-  संकलन -
Kailash
कैलाश-मानसरोवर यात्रा - प्रेमलता पांडे
चौबीसवाँ-दिन - 27/6/2010
पच्चीसवाँ दिन - 28/6/2010
कन्या-भ्रूण हत्या से संबंधित संस्मरण शृंखला 
हादसा - ९ कन्या भारत की मिटटी में दफ़न
कविता गुप्ता
इस अंक में
महादेवी वर्मा
डॉ. हरिवंश राय बच्चन
आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी
त्रिलोचन शास्त्री
नागार्जुन
ई - पुस्तकालय - (इस स्तम्भ के अन्तर्गत पुस्तकों का प्रकाशन धारावाहिक रूप में होगा)

भीगे पंख
लेखक : महेश द्विवेदी
मोहित का जन्म
 
शकुन्तला
इस अंक में चतुर्थ सर्ग - प्रमोद ६ महाकवि प्रो. हरिशंकर आदेश
(अगले अंक से)
साहित्यिक समाचार -

"सारांश समय का" लोकार्पण समारोह एवं काव्य गोष्ठी
महिमा श्री


गोइन्का हिन्दी तेलुगु अनुवाद पुरस्कार 2015 के लिए प्रविष्टियाँ आमंत्रित 
 

सूचना - साहित्य संगम -
साहित्य कुंज के नए अंकों की सूचना पाने के लिए अपना ई-मेल पता भेजें

Powered by us.groups.yahoo.com

हिन्दी राइटर्स गिल्ड
 अनुभूति-अभिव्यक्ति  
 काव्यालय
 वागर्थ (भारतीय भाषा परिषद.Com)
 हंस
 साहित्य सरिता
हिन्दी नेस्ट
सृजनगाथा
कृत्या
लघुकथा
साहित्य सेतु
हिन्दी ब्लॉग
अपनी रचनाएँ भेजें:-
कृपया अपनी रचनाएँ निम्नलिखित ई-मेल पर भेजें
sahityakunj@gmail.com
अथवा डाक द्वारा भेजें:-
Sahitya Kunj,
87, Scarboro Ave.
Scarborough, Ont M1C 1M5
Canada