अन्तरजाल पर आपकी मासिक पत्रिका

अन्तरजाल पर साहित्य-प्रेमियों की विश्राम-स्थली
वर्ष: 10, अंक 100,  अप्रैल प्रथम अंक, 2015
ISSN 2292-9754

लेखक या सम्पादक की लिखित अनुमति के बिना पूर्ण या आंशिक रचनाओं का पुर्नप्रकाशन वर्जित है। लेखक के विचारों के साथ सम्पादक का सहमत या असहमत होना आवश्यक नहीं।  सर्वाधिकार सुरक्षित। साहित्य कुंज में प्रकाशित रचनाओं में विचार लेखक के अपने हैं और साहित्य कुंज टीम का उनसे सहमत होना अनिवार्य नहीं है।
सम्पादक:- सुमन कुमार घई; साहित्यिक परामर्श:- डॉ. शैलजा सक्सेना; सहायता - विजय विक्रान्त; संरक्षक - महाकवि प्रो. हरिशंकर आदेश

कविता   कहानी   लघु-कथा   लोक-कथा   आपबीती   आलेख    हास्य-व्यंग्य    हास्य-व्यंग्य कविताएँ    महाकाव्य   अनूदित-साहित्य
नाटक  लेखक   संकलन    ई-पुस्तकालय   साहित्यिक-चर्चा   शोध निबन्ध    साहित्यिक-समाचार    शायरी   शायर   बाल साहित्य
हिन्दी ब्लॉग    पुस्तक समीक्षा / पुस्तक चर्चा    साक्षात्कार
इस अंक में     पुराने अंक

सम्पादकीय:
समय-समय पर भारत से प्रवासी साहित्य के संकलनों को प्रकाश होता रहता है। परन्तु एक बार रचनाएँ वहाँ पहुँचने के बाद कब पुस्तक प्रकाशित होगी – इस पर किसी का भी कोई नियन्त्रण नहीं होताभ .... आगे पढ़िए

इस अंक में कहानियाँ -
वो लड़की
डॉ. मनीषकुमार सी. मिश्रा
रामू काका
राजेश कुमार श्रीवास्तव
दीवारें तो साथ हैं
प्रदीप श्रीवास्तव
हास्य - व्यंग्य - बाल साहित्य - लघु कथा -
क्रिकेट में स्विंग तो राजनीति में स्टिंग - तारकेश कुमार ओझा
रब्ब ने मिलाइयाँ जोड़ियाँ...! - अशोक परुथी "मतवाला"
चिंगारी, मुट्ठी में है लाल गुलाल, होगी पेपर लेस पढ़ाई - प्रभुदयाल श्रीवास्तव मजदूर औरत - मनोज चौहान
जीत, बेबस, तरक्की, बेटी की शादी - ओमप्रकाश क्षत्रिय ‘प्रकाश’
हैप्पी बर्थडे, जुगत - भारती पंडित
आलेख - साहित्य और सिनेमा -  शोध निबन्ध -  
पश्चिम का प्रथम हिंदी तीर्थ - त्रिनिदाद का एरी गाँव - बी.एन. गोयल

ये तो होता ही है - पंकज रामेन्दु
मातृभाषा बनाम अँग्रेज़ी माध्यम में पढ़ाई - जोगा सिंह (डॉ.)

इंटरनेट एवं स्थानीय भाषाएँ - डॉ. मोहम्मद मज़ीद मिया


द्वितीय महायुद्ध में नस्लवादी हिंसा का दस्तावेज़ : शिन्ड्लर्स लिस्ट
डॉ. एम वेंकटेश्वर
असामाजिक परम्पराओं के प्रतिरोध के कवि: ओमप्रकाश वाल्मीकि
(कविता संग्रह ‘बस! बहुत हो चुका’ के विशेष संदर्भ में) - संजय आटेड़िया
पाश्चात्य एवं भारतीय संस्कृति का आख्यान उषा प्रियवंदा - डॉ. राजकुमारी शर्मा
आदिवासी विमर्श : एक शोचनीय बिंदु - सुरजीत सिंह वरवाल
बाल साहित्य की संस्कार क्षमता एवं उपादेयता - स्वर्णलता ठन्ना
साहित्यिक निबन्ध - साक्षात्कार -  अनूदित साहित्य

वैश्वीकरण में किसान और बैल : संदर्भ ‘बाज़ार में रामधन’ - अरुण प्रसाद रजक

भारतीय संस्कृति की गहरी समझ - शैलेन्द्र चौहान

डॉ. भारतेन्दु मिश्र की गीत सर्जना पर केन्द्रित बातचीत
डॉ. रश्मि शील
आँखों देखा ईरान (मूल लेखक: प्रो. अमृतलाल “इशरत”) _ राजेश सरकार (अनुवादक)
वे मनुष्य ही थे... (डॉ. गोविंद गोरे - मराठी) - नितिन पाटील (अनुवादक)
आज (वाहरु सोनवणे मराठी आदिवासी कवि) - नितिन पाटील (अनुवादक)
कविताएँ - शायरी -
ज़िन्दगी, शास्त्र पर सम्वाद जो चाहा, समूची धरा बिन ये अंबर अधूरा है - डॉ. अमिता शर्मा
अर्थ - पिशाच, जोंक, शव परीक्षण - गृह, चुम्बन - रजनीकान्त राकेश
महीयसी महादेवी, अमर कथा-शिल्पी मुंशी प्रेमचन्द, कालजयी जयशंकर प्रसाद, आचार्य महावीर प्रसाद द्विवेदी - डॉ. मीनू नन्दा
आजकल इन पहाड़ों के रास्ते, इन पहाड़ों मेँ आकर, इन रास्तों का अकेलापन, एक वैसी ही लड़की - डॉ. मनीषकुमार सी. मिश्रा
हर जगह अनुपस्थित, भूल जाओ, एकान्त चाहिये - सुधेश
यात्रा, त्रिशंकु, स्रष्टा - सुमन कुमार घई
भीगता क़तरा .....!, कौन हो तुम, यथार्थ - सूर्यप्रकाश मिश्रा
पीड़ा टीसती है, ख़ास "तुम" हो बेहद ख़ास, समर्पण - डॉ. शिप्रा शिल्पी
पीला काग़ज़, घर - डॉ. सारिका कालरा
अक्स तुम्हारा (हाइकु), ख़ामोशियाँ बोलती हैं (हाइकु), बसंत आया (ताँका) - डॉ. सरस्वती माथुर
बस, अच्छा लगता है - महेश रौतेला
न चाहा बेवफ़ा की याद में..., सिखाना छोड़, होंठों पर.... - दिलबाग विर्क
डरता है वो कैसे घर से... - डॉ. शोभा श्रीवास्तव

भूखे पेट भजन होता है, हमने दुनियादारी देखी - रामश्याम हसीन
बूँद थी मैं..., बहुत हो चुका अब..., अमीरज़ादों पे नहीं मिला - सपना मांगलिक
अब हमने हैं खोजी नयी ., वफ़ायें तो हुई है अब.., तूफ़ानों में उनके छोड़ जाने..., उनकी निगाहों के वार देखिये - उपेन्द्र परवाज़
पुस्तक समीक्षा / चर्चा-  पुस्तक समीक्षा / चर्चा-  पुस्तक समीक्षा / चर्चा- 

अपने समय का चित्र उकेरतीं कविताएँ
प्रदीप श्रीवास्तव

नई रोसनी: न्याय के लिए लामबंदी
प्रदीप श्रीवास्तव

आधी आबादी का संघर्ष
कीर्ति भारद्वाज
 
 
यात्रा संस्मरण - संस्मरण-  संकलन -

अरुण यह मधुमय देश हमारा
डॉ. एम वेंकटेश्वर
डायरी के पन्ने
कनाडा सफ़र के अजब अनूठे रंग
02_ ऒ.के. की मार और एयरपोर्ट का नज़ारा
सुधा भार्गव
इस अंक में
महादेवी वर्मा
डॉ. हरिवंश राय बच्चन
आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी
त्रिलोचन शास्त्री
नागार्जुन
ई - पुस्तकालय - (इस स्तम्भ के अन्तर्गत पुस्तकों का प्रकाशन धारावाहिक रूप में होगा)

भीगे पंख
लेखक : महेश द्विवेदी
रज़िया का जन्म
 
शकुन्तला
इस अंक में चतुर्थ सर्ग - प्रमोद ६ महाकवि प्रो. हरिशंकर आदेश
(अगले अंक से)
साहित्यिक समाचार -

‘भारतीय भाषाओं की रक्षा और राष्ट्रभाषा की प्रतिष्ठा के लिए संघर्ष करना होगा’
‘अंधेरे में’ के अर्धशती समारोह के अवसर पर रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ का आह्वान

डॉ. गुर्रमकोंडा नीरजा

शहीद भगत सिंह और विस्मृत भारतीय शहीदों की याद में
शिखा वार्ष्णेय

काका हाथरसी हास्यरत्न सम्मान
डॉ. गिरिराजशरण अग्रवाल

त्रिलोक सिंह ठकुरेला को ब्रज-गौरव सम्मान
विशेष संवाददाता द्वारा

लिट-ओ-फेस्ट मुंबई
अमृता चन्द्रात्रे
सूचना - साहित्य संगम -
साहित्य कुंज के नए अंकों की सूचना पाने के लिए अपना ई-मेल पता भेजें

Powered by us.groups.yahoo.com

हिन्दी राइटर्स गिल्ड
 अनुभूति-अभिव्यक्ति  
 काव्यालय
 वागर्थ (भारतीय भाषा परिषद.Com)
 हंस
 साहित्य सरिता
हिन्दी नेस्ट
सृजनगाथा
कृत्या
लघुकथा
साहित्य सेतु
हिन्दी ब्लॉग
अपनी रचनाएँ भेजें:-
कृपया अपनी रचनाएँ निम्नलिखित ई-मेल पर भेजें
sahityakunj@gmail.com
अथवा डाक द्वारा भेजें:-
Sahitya Kunj,
3421 Fenwick Crescent
Mississauga, ON, L5L N7
Canada